रोमियो और जूलियट की प्रेम कहानी|Love Story Part 2 in hindi

जूलियट एंड रोमियो की अमर प्रेम कहानी  (world famous love story Romeo Juliet in hindi)

आइए पढ़ते है

रोमियो और जूलियट की प्रेम कहानी

की किस तरह फ्रायर लॉरेंस गुप्त रूप से युवा प्रेमियों की मदद करने के लिए तैयार था, क्योंकि उसने सोचा था कि जब वे एक बार शादी कर लेंगे तो उनके माता-पिता को जल्द ही बताया जा सकता है, और यह उनके पुराने झगड़े का सुखद अंत कर सकता है।आइए जानते है

अगली सुबह जल्दी, रोमियो और जूलियट थे फ्रायर लारेंस के घर में जहाँ उनकी गुपचुप शादी हो गई ।
रोमियो ने उस शाम बगीचे में आने का वादा किया, और नर्स ने खिड़की से नीचे उतरने के लिए एक रस्सी-सीढ़ी तैयार की, ताकि रोमियो ऊपर चढ़ सके और अपनी प्यारी पत्नी से चुपचाप और अकेले बात कर सके। और पढ़ें ~ अमर प्रेम कहानी रोमियो जूलियट

 

लेकिन उसी दिन एक भयानक बात हुई।

टायबाल्ट, वह युवक जो रोमियो के कैपुलेट की दावत में जाने से इतना गुस्सा था

आइए पढ़ते है भाग 2

किस तरह टायबोल्ट रोमियो से टकरा जाता है और उनमें खूनी झगड़ा होने लगता है जब रोमियो ने देखा कि उसका दोस्त मरकुटियो टायबोल्ट के हाथों मर चुका है,जब रोमियो ने देखा कि उसका दोस्त मर चुका है, तो वह गुस्से से पागल हो उठा वह सब कुछ भूल गया वह और टायबाल्ट तलवारें उठा कर आमने सामने आ गए.रोमियो उस आदमी पर क्रोध के अलावा सब कुछ भूल गया जिसने उसक दोस्त मार डाला था वह और टायबाल्ट तब तक लड़ते रहे जब तक टायबाल्ट मर नहीं गया।

टॉयबॉल्ट की हत्या की सजा

और इस तरह अपनी शादी के दिन ही रोमियो के हाथों अपनी प्रिय जूलियट के चचेरे भाई की हत्या हो गई इस हत्या की सजास्वरूप उसे राज्य से निर्वासित करने की सजा दी गई।बेचारी जूलियट और उसके नए नवेले पति रोमियो की मुलाकात उसी रात हुई थी जब वह फूलों और खिड़की के बीच होते हुए रस्सी की सीढ़ी पर चढ़कर उससे सुखद मुलाकात करने आया था, और वे रोते बिलखते दिल के साथ अलग हो गए, क्योंकि वे नहीं जानते थे कि उन्हें दोबारा मिलना कब नसीब होगा।

जूलियट के पिता जो अभीतक रोमियो जूलियट की शादी की बात नहीं जानते थे इस घटना के बाद उन्होंने पेरिस नाम के शख्स के साथ जूलियट की शादी निश्चित कर दी लेकिन जूलियट ने इस शादी से इनकार कर दिया लेकिन उसके पिता इस शादी के लिए अडिग थे उन्होंने अपना फैसला सुना दिया।

जूलियट और लॉरेंस की योजना

जूलियट दुख और गुस्से से भरी लॉरेंस के पास पहुंची और पूछा कि उसे क्या करना चाहिए वह पेरिस से शादी नहीं करना चाहती।
ललॉरेंस ने उसे कहा की तुम शादी के लिए हां करः दो सहमति का नाटक कर पिता का विश्वास हासिल करो।
मैं तुम्हे एक ऐसी दवा दूंगा जिसे तुम शादी के दिन गिरजे में जाने से पहले खा लेना तुम बेहोश हो जाओगी और घरवाले तुम्हे मरा समझकर ताबूत में रखकर दफना देंगे लेकिन तुम 24 घंटो के बाद जिंदा हो जाओगी मैं तुम्हारी रखवाली करूंगा उसके बाद मैं चुपके से रोमियो को बुलाकर तुम्हें उसके साथ भगा दूंगा।

 

तुम्हे डर तो नहीं लग रहा जूलियट फ्रायर लॉरेंस ने पूछा
मुझे बिल्कुल डर नहीं लग रहा जूलियट ने खुश होकर कहाजूलियट घर गई और अपने पिता से कहा कि वह पेरिस से शादी करेगी। यह सुनकर लॉर्ड कैपुलेट बहुत खुश हुए और अपने दोस्तों को आमंत्रित करने और शादी की दावत तैयारी करने में व्यस्त हो गया।

मोत का नाटक

सभी पूरी रात काम करते रहे क्योंकि शादी के लिए समय कम था और काम बहुत कुछ बाकी था।
लॉर्ड कैपुलेट जूलियट की शादी के लिए उत्सुक थे लेकिन साथ ही वह देख रहे थी कि वह शादी से खुश नहीं थी उन्होंने सोचा कि वह रोमियो के लिए दुखी है या हो सकता है अपने भाई टायबोल्ट के लिए दुखी हो फिर उन्होंने विचार किया कि शादी के बाद वह ठीक ही जाएगी।

शादी के दिन सुबह-सुबह नर्स जूलियट को बुलाने और उसे उसकी शादी के लिए तैयार करने के लिए आई थी,उसने जूलियट को जगाने की बहुत कोशिश की लेकिन वह बिस्तर से नहीं उठी(क्योंकि उसने लॉरेंस की दी हुई दवा खा ली थी)
नर्स जोर से चिल्लाई हे भगवान जूलियट मर चुकी है उसका रोना चिल्लाना सुनकर लार्ड केपुलेट, लेडी केपुलेट और दूल्हा पेरिस भागते हुए आए और आते ही देख की जूलियट उनके सामने ठंडी और बेजान पड़ी थी उन सभी की दर्द भरी चीत्कार भी उसे जग नहीं सका।

जूलियट को दफनाना

आखिरकार सभी ने भारी मन से उसे दफनाने का निर्णय लिया उस दिन शादी करने के बजाय दफनाना था।
इस बीच फ्रायर लारेंस ने मंटुआ एक पत्र भेजकर रोमियो को इन सब बातों के बारे में बताने के लिए भेज दिया था और सब सही तरीके से हो जाता लेकिन इस पत्र को रोमियो के पास पहुंचने में थोड़ी सी देर हो जाती है और यह भी दुर्भाग्य की बात थी की अशुभ समाचार तेजी से फैलते हैं और पढ़ें ~ लम्बी उम्र का राज 

रोमिओ की ग़लतफ़हमी

क्योंकि रोमियो का दोस्त जो इनकी शादी का राज तो जानता था, लेकिन जूलियट की मौत के ढोंग के बारे में उसे मालूम नहीं था जब उसने जूलियट के अंतिम संस्कार के बारे में सुना तो वह भागते हुए रोमियो को यह बताने के लिए जल्दी से मंटुआ पहुंच गया और उसे बताया की उसकी युवा पत्नी जूलियट मर गई है और दफनाया भी जा चुका है वह कब्र में पड़ी है।

रोमियो यह सुनकर रोने लगा उसे विश्वास नहीं हो रहा था उसका दिल टूट गया। उसने कहा तो ठीक है फिर मैं भी आज रात जूलियट के साथ ही कब्र में लेट जाऊंगा।

रोमिओ और पेरिस की लड़ाई व् पेरिस की मोत

रोमियो ने जहर खरीदा और सीधे वेरोना चला गया। वह उस मकबरे की ओर दौड़ा जहाँ जूलियट को दफनाया गया था।
उसके लिए यह सिर्फ एक कब्र नहीं थी, बल्कि एक तिजोरी थी। उसके आसपास दूसरे सभी मृत कैपुलेट्स दबे पड़े थे,
उसने अपने पीछे एक आवाज सुनी जो उसे रुकने के लिए बुला रही थी। यह काउंट पेरिस था, जिसने उसी दिन जूलियट से शादी की थी।
तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई यहाँ आने और कैपुलेट्स के शवों को परेशान करने की, तुमने मोंटेगु को नीचा दिखाया है ? पेरिस रोया।

बेचारा रोमियो दुख से आधा पागल था फिर भी उसने धीरे से जवाब देने की कोशिश की। पेरिस ने कहा, कि तुन्हें बताया गया था की अगर तुम वेरोना लौट आए तो तुम्हे मौत की सजा मिलेगी।मुझे मौत की सजा चाहिए, रोमियो ने कहा। मैं यहां किसी और चीज के लिए नहीं आया।

इससे पहले की मैं तुम्हें कोई नुकसान पहुँचाऊ मुझे छोड़ कर चले जाओ लेकिन पेरिस ने कहा नहीं मैं तुम्हें गिरफ्तार करवाकर मृत्युदंड दिलवाऊंगा यह सुनकर दुखभरे गुस्से के साथ अपनी तलवार निकल ली दोनों एक दूसरे को मारने पर उतारू थे जैसे ही वे लड़े रोमियो के पहले वार में ही पेरिस मारा गया।

रोमियो और जूलियट की प्रेम कहानी

रोमिओ की मौत

रोमियो अभी भी रो रहा था रोते रोते वह जूलियट की कब्र में उसके पास बैठ गया और जूलियट को अपनी गोद मे रख लिया उसने बर्फ से ठंडे जूलियट के होंठों पर चुम्बन लिया फिर जूलियट को आँसू भरी निगाहों से देखते देखते उसने जहर पी लिया ।फ्रायर लारेंस भागते हुए आया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी उसने फ़टी हुई आँखों से रोमियो को जूलियट के बगल में मरा हुआ पाया वो अपनी गलती पर पछता रहा था ।लड़ाई के शोर सुनकर दूसरे लोग भी पहुंच गए जिन्हें देखकर और उनकी आवाजें सुनकर फ्रायर लॉरेंस भाग गया।

जूलियट का होश में आना

जहर का असर खत्म होने के कारण जूलियट भी होश में आ गई थी जूलियट ने रोमियो के उस प्याले को देखा जिसमें ज़हर था उसे देखकर वह सारी घटना समझ गई कि यह सब कैसे हुआ था.उसने प्याले को देखा जो बिल्कुल खाली था उसमें कोई ज़हर नहीं बचा था, उसने अपने प्रिय रोमियो के खंजर को खींचा और इससे पहले की कोई उसे रोकता खंजर को अपने दिल के आरपार कर दिया और रोमियो के सीने पर सर रखकर गिर गई।

दोनों प्रेमियों की मौत और परिवारों का पछतावा

जूलियट मर गई थी और इस तरह दो प्रेमी मरकर एक हो चुके थे सच्चे प्रेमियों की कहानी यूँ दर्दनाक तरीके से समाप्त हो जाती है।
और जब परिवार के बड़े बूढ़े लोगों ने लारेंस से जो कुछ हुआ था,उसके बारे में जाना तो सभी बहुत दुखी हुए दोनों परिवारों की अहंकार भरी दुश्मनी पर बहुत पछताए जिसने दोनों फूल से बच्चों को मौत के मुंह में धकेल दिया ।

दोनों परिवारों के सभी सदस्यों ने रोते हुए रोमियो जूलियट के मृत शरीरों के पास हाथ जोड़कर उनसे अपनी गलतियों की क्षमा मांगने लगे
लेकिन अब हाथ मलने के सिवाय क्या हो सकता था क्योंकि दोनों प्रेम के पंछी सदा के लिए इस नफरत भरी दुनिया को छोड़कर तारों की छांव में पहुंच चुके थे जहां सिर्फ प्यार था.
प्यार और सिर्फ प्यार.

तो यह थी रोमियो जूलियट की अमर प्रेम कहानी
जो सदियों तक सुनाई जाएगी ।

और पढ़ि

Animal farm summary । जॉर्ज ऑरवेल । पशुओं की क्रांति

मेटामोरफॉसिस metamorphosis

3 thoughts on “रोमियो और जूलियट की प्रेम कहानी|Love Story Part 2 in hindi”

Leave a Comment